Saturday, 23 April 2011

भ्रष्टाचार निवारण पर प्रश्नोत्तर

भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम, 1988
रिश्वत और भ्रष्टाचार निवारण क वर्तमान विधियों को समेकित एवं संशोधित करने का अधिनियम।
भारतीय गणराज्य के उनतालीसवें वर्ष में संसद द्वारा निम्नलिखित रूप से अधिनियमित हों-
भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम  का  संक्षिप्त नाम और विस्तार –
1)  यह अधिनियम भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम, 1988 कहा जा सकेगा।
2)  इसका विस्तार जम्मू और कश्मीर राज्य के सिवाय संपूर्ण भारत पर है और यह भारत के बाहर भारत के सब नागरिकों पर भी लागू है।
भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम को अधिक जानने के लिए नीचे प्रदर्शित लिंक पर क्लीक कीजिये




खाद्य अपमिश्रण पर प्रश्नोत्तर




खाद्य अपमिश्रण निवारण अधिनियम
Prevention of Food Adulteration Act

खाद्य के अपमिश्रण के निवारणार्थ उपबन्ध बनाने के लिए अधिनियम ।
भारत गणराज्य के पांचवे वर्ष में संसद द्वारा निम्नलिखित रूप में यह अधिनियम हों-

खाद्य अपमिश्रण निवारण अधिनियम - विस्तार और प्रारम्भ
1) इस अधिनियम का संक्षिप्त नाम खाद्य अपमिश्रण निवारण अधिनियम, 1954 है।
2) इसका विस्तार संपूर्ण भारत पर है।
3) यस उस तारीख को प्रवृत्त होगा जिसे केन्द्रीय सरकार, शासकीय राजपत्र में अधिसूचना द्वारा, नियत करे।
खाद्य अपमिश्रण निवारण अधिनियम को अधिक जानने के लिए नीचे प्रदर्शित लिंक पर क्लीक कीजिये

Saturday, 2 April 2011



कानून की जानकारी देने वाला ब्लॉग

मेरे इस चिटठे पर आपको नियम व कानून की जानकारी हिन्दी में मिलेगी। आपको जिस भी विषय या समस्या की जानकारी चाहिये Right side के Column में उससे सम्बंधित शब्द पर click करें । आपकी समस्या से सम्बंधित जानकारी आपको मिल जायेगी। यदि आपको जो जानकारी चाहिये वह जानकारी इस ब्लॉग पर वर्तमान में उपलब्ध ना हो तो comments लिखकर मुझे जानकारी दिजीये मैं यथासम्भव शिघ्रता शिघ्र आपको अपेक्षित जानकारी उपलब्ध कराने का प्रयत्न करूँगा यदि समय हो तो निचे लिखी पंक्तियों को पढ़िये और हिम्मत हो अनुसरण करने जोखिम उठाईयें।
न किसी से डरिये, ना किसी को डराईये
ना घुस लिजिये, ना घुस दिजीये
न किसी का हक छीनिये, न किसी को अपना हक छिनने दिजीये
यदि सचमुच आप चाहते ऐसा करना
तो बस आपना विधिक ज्ञान बढ़ाईये और विधिक साक्षर कहलाईये
अपना व अपने देश का आत्म सम्मान बढ़ाईये
अन्यथा जिहूजुरी व चापलूसी कर अपनी इज्जत व आत्मसम्मान यू हि गवाईये
रोज गँवाते आ रहे हैं और बिन्दास मरते तक यूं ही गँवाते रहिये।
क्योकिं इज्जत भगवान की ऐसी देन है जो कभी खत्म नहीं होती है समझे । !!!!!!

Thursday, 24 March 2011

अमोल मालुसरे कौन है ?


          
                 
अमोल मालुसरे कौन है ?
मुझसे मिलकर अक्सर लोगों को यह भ्रम हो जाता है कि मैं पेशे से वकील हूँ क्योकि मुझे जब भी भ्रष्टाचार जैसी सामाजिक बुराइयो॔ के खिलाफ आवाज उठाने के लिये न्यायपालीका की शरण में जाने की जरूरत पड़ती है मैं भ्रष्टाचारी के खिलाफ न्यायालय में वाद प्रस्तुत करने से नहीं चूकता हूँ व समाज सेवा का कार्य करता हूँ। अतः मेरे परिचितों को यह भ्रम हो जाता हैं कि मैं पेशे से वकील हूँ विशेषकर उन लोंगो को अधिक होता है, जो मेरी जन्म भूमि छत्तीसगढ़ राज्य से संम्बोधित होते है। ऐसा ही पर थोडा सा अलग भ्रम मेरी कर्म भूमी रही पूणे, नागपूर और दिल्ली में मुझे जानने वाले लोग को होता है कि मैं छ्तीसगढ़ प्रान्त का कोई बड़ा व्यवसायी व राजनैतिज्ञ हूँ, मेरे प्रति लोगों को यह भ्रम होना स्वाभाविक है, क्योंकि मैं पेशेवर गेस्ट राईटर हूँ और भूगतान के बदले पुस्तक, लेख, कहानी, रिपोर्ट आदि लिखने का कार्य करता हूँ। मैं भूगतान के बदले लिखता हूँ, अतः स्वाभाविक सी बात है कि लिखने का श्रेय भूगतान करने वाले को ही मिलता है और भूगतान करने वाला कोई ना कोई विशिष्ठ व पसे वाला व्यक्ती हि होता है। भाग्य से विगत् कुछ ही वर्षों में बिजनेस राईटिंग के क्षेत्र में भी मै अधिक सफल हो रहा हूँ और वर्तमान में कानून की जानकारी सर्व करने वाली वेब साईट के लिए अपनी सेवाएं दे रहा हूँ परिणाम स्वरूप  मुझे उच्च न्यायालय की कार्यप्रणाली को समझने का व सफल अधिवक्ताओं के संग कार्य करने का अवसर भी प्राप्त कर रहा है। इन्टरनेट व कानून दोनों ही क्षेत्रों में एक साथ कार्य करने के मेरे अनुभव के आधार पर मैं आम लोगो को रोजाना जरूरत पडने वाले अधिनियम की जानकारी ब्लॉग के माध्यम से वेब पर प्रकाशित कर रहा हूँ जिससे की सभी को कानून को समझने में आसानी हो और मैं अपनी लेखन क्षमता से सभी को अवगत करा सकूँ। समाज सेवा का मेरा यह अनोखा तरीका अवश्य हि मूझे अलग पहचान दिलायेगा साथ हि साथ लोगो का मेरे प्रती भ्रम टूटेगा।

Sunday, 20 March 2011

वेब साक्षरता पर प्रश्नोत्तर


मरीजों के अधिकार पर प्रश्नोत्तर


स्व सहायता समूह पर प्रश्नोत्तर




स्व सहायता समूह
Self help group
स्व सहायता समूह  / (SHG) Self Help Group
अर्थात स्वंय की सहायता करने वाला समूह

स्व सहायता समूह की बैठक विवरण पंजी का प्रारूप

स्व सहायता समूह की  ऋण विवरण पंजी का प्रारूप
 स्व सहायता समूह की बचत सूची पंजी ( बैंक संबंधी विवरण) का प्रारूप
स्व सहायता समूहों के कार्य निष्पादन का आकलन करने के लिये जाँच सूची
स्व सहायता समूहों के जरुरी  प्रश्नों के उत्तर जैसे  

SHG कौन बना सकता है ?
 SHG कैसे बना सकता है?
 SHG कब बना सकता है ?
SHG बनाने के क्या - क्या फायदे हैं ?
समूह में कितने सदस्य होने चाहिये
इत्यादि प्रश्नों के उत्तर जानने के लिए नीचे प्रदर्शित लिंक पर क्लीक कीजिये व आपके प्रश्नों के उत्तर जानिए हिंदी में

सिविल अधिकार पर प्रश्नोत्तर


सिविल अधिकार संरक्षण अधिनियम
The Protection of Civil Rights Act

 अस्पृश्यता का प्रचार औ आचरण करने और उससे उपजी किसी निर्योग्यता को लागू करने, और उससे संबंधित बातों के लए दंड विहित करने के लिए अधिनियम।
भारत गणराज्य के छठे वर्ष में संसद द्वारा निम्नलिखित रूप में यह अधिनियमित हो-
सिविल अधिकार संरक्षण अधिनियम संक्षिप्त नाम, विस्तार और प्रारम्भ-
1) यह अधिनियम सिविल अधिकार संरक्षण अधिनियम, 1955 कहा जा सकेगा।

2)  इसका विस्तार संपूर्ण भारत पर है।

3) यह उस तारीख को प्रवृत्त होगा, जिसे केनद्रीय सरकार शासकीय राजपत्र में अधिसूचना द्वारा नियत करे।

 सिविल अधिकार संरक्षण अधिनियम को अधिक जानने के लिए नीचे प्रदर्शित लिंक पर क्लीक कीजिये